शनिवार, दिस 07

  •  
  •  
आप यहाँ हैं:घर छात्रावास छात्रावास नियम छात्रावास नियम 2

छात्रावास नियम 2

  • छात्रावास या संस्थान के परिसरों में मादक वस्तुओं का उपयोग निषिद्ध है। यदि किसी प्रशिक्षणार्थी को मादक पदार्थ रखते या सेवन करते पाया जाएगा तो उसे तत्काल संस्थान से निष्कासित कर दिया जाएगा।
  • किसी प्रशिक्षणार्थी का चरित्र तथा व्यवहार असंतोषजनक पाए जाने पर उसे छात्रावास से निष्कासित किया जा सकता है।
  • बाहर का कोई भी व्यक्ति छात्रावास में अतिथि के रूप में नहीं रह सकता।
  • वार्डन की पूर्व अनुमति के बिना कोई प्रशिक्षणार्थी कमरा और प्रदत्त सामग्री एक दूसरे से नहीं बदल सकता।
  • यदि कोई प्रशिक्षणार्थी संस्थान एवं छात्रावास की सामग्री को किसी प्रकार की क्षति पहुँचाएगा, तो उसे उसकी क्षतिपूर्ति करनी होगी।
  • बिजली के बल्ब सत्र के आरंभ में एक बार दिए जाएँगे। यदि बल्ब फ्यूज होता है तो प्रशिक्षणार्थी को उसकी व्यवस्था स्वयं करनी होगी। पुन: लगाए गए बल्बों का वाटेज पूर्व प्रदत्त बल्बों के वाटेज के समान ही होना चाहिए।
  • कमरों में लगे विद्युत उपकरणों के अलावा अन्य किसी विद्युत उपकरण (तापक/हीटर आदि) का प्रयोग दंडनीय अपराध समझा जाएगा। विशेष परिस्थिति में अतिरिक्त विद्युत शुल्क जमा कर वार्डन/कुलसचिव से अनुमति माँगी जा सकती है।
  • छात्रावास में किसी प्रकार के स्टोव का प्रयोग करना निषिद्ध है। यदि कमरे में स्टोव/हीटर पाया गया तो प्रशिक्षणार्थी को दंडित किया जाएगा और उसका स्टोव/हीटर भी जब्त कर लिया जाएगा।
  • छात्रवासों में वार्डन प्रत्येक तल के नायकों की नियुक्ति करेंगे। नायक अन्य प्रशिक्षणार्थियों की सहायता से छात्रवासों की देखभाल वार्डन के निर्देशानुसार करेंगे।
  • छात्रावास के कार्य के लिए छात्रावास सहायक और छात्र परिचारकों की व्यवस्था है, जिनके कर्तव्य वार्डन के द्वारा निश्चित किए गए हैं।
  • छात्रावास में प्रतिदिन रात्रि को निर्धारित समय (6.00 से 6.30 तक) पर वार्डन द्वारा उपस्थिति ली जाएगी। इसी समय प्रशिक्षणार्थी अपनी कठिनाइयाँ लिखित रूप में वार्डन को दे सकते हैं।
  • सभी छात्र अपने साथ बिस्तर एवं आवश्यक कपड़े (गर्म एवं सामान्य) तथा कंबल आदि लेकर आएँ। दिसंबर से जनवरी तक आगरा में काफी सर्दी होती है। घर जाकर सामान लाने के लिए अवकाश नहीं दिया जाएगा। छात्रावास से केवल पलंग, गद्दा, तकिया और सर्दी के मौसम में रजाई दी जाएगी। उपर्युक्त वस्तुओं को कमरे से बाहर ले जाने की अनुमति नहीं है। विद्यार्थी सभी सामग्रियों को सही तरह से प्रयोग करें तथा मौसम के अनुसार छात्रावास सहायक के पास दिए गए समय में वापस जमा कर दें। सामग्री के गायब या खराब होने पर सत्र के अंत में संबंधित छात्र/छात्र को उसकी भरपाई करनी होगी।
  • छात्रों को छात्रावास के संबंध में अथवा सेवारत कर्मचारियों के संबंध में कोई शिकायत हो तो लिखित रूप में वार्डन को दें। लिखित शिकायत पर ही कार्रवाई की जा सकेगी।
  • कोई भी छात्र/छात्र अपने साथ किसी बाहरी व्यक्ति/अतिथि को चाहे वह संस्थान से संबंधित ही क्यों न हो, अपने कमरे में नहीं ले जाएगा। उनसे मुलाकात निश्चित अतिथि कक्ष में ही करेगा। यदि किसी विद्यार्थी के अतिथि/बंधु सहेली/दोस्त आते हैं तो पहले उसकी लिखित सूचना वार्डन या छात्रावास सहायक को देनी होगी। अनुमति प्राप्त होने पर ही वह कमरे में प्रवेश कर पाएँगे। बाहरी व्यक्तियों/अतिथियों से मिलने का समय सायं 5.30 बजे से सायं 6.30 बजे के बीच होगा। मिलने वाले व्यक्तियों को विजिटर रजिस्टर (आगंतुक पंजिका) में नाम, पता, समय लिखकर हस्ताक्षर करने होंगे तथा जिनसे मिलना है उनका नाम भी लिखना होगा और उन्हें भी हस्ताक्षर करने होंगे।