बुधवार, अक्टू 16

  •  
  •  

जान्‍हू बरुआ

janho-barua

श्री जान्‍हू बरुआ का जन्म 17 अक्टूबर, 1952 में हुआ था। भारत के उन फिल्‍म निर्माताओं में प्रमुखता से शुमार किए जाते हैं जिन्‍होंने भारतीय सिनेमा को अपनी मौलिक पहचान के साथ अंतर्राष्‍ट्रीय फलक पर दृढ़ता से स्‍थापित किया।

कार्यक्षेत्र

श्री जान्‍हू बरुआ ने अनेक लघु फिल्‍मों एवं टेलीफिल्‍मों सहित पंद्रह से अधिक फीचर फिल्‍मों का लेखन, निर्माण और निर्देशन किया है। ‘अपरूपा’, ‘अपेक्षा’, ‘पापोरी’, ‘मैंने गांधी को नहीं मारा’ आदि भी बरुआ द्वारा लिखित एवं निर्देशित कुछ प्रमुख फिल्‍में हैं। रचनात्‍मक सिनेमा के अलावा आपने इसरो और एस.आई.टी.ई. के लिए विज्ञान और शिक्षण से संबंधित अनेक कार्यक्रमों का निर्माण किया है।
श्री बरुआ की फिल्‍में परंपरागत और तेजी से बदल रहे भारतीय समाज के द्वंद्वात्‍मक संबंधों को रेखांकित करती हैं। एक सामाजिक कार्यकर्ता के रूप में युवाओं, बच्‍चों, स्त्रियों, वन्‍य-जीवन, पर्यावरण व ग्रामीण विकास जैसे क्षेत्रों में भी सक्रिय हैं।

सम्मान एवं पुरस्कार

फिल्‍म निर्माण के क्षेत्र में इनके अतिविशिष्‍ट रचनात्‍मक योगदान के लिए पद्मश्री और कमलकुमारी नेशनल एवार्ड फॉर कल्‍चर सहित अनेक राष्‍ट्रीय-अंतरराष्‍ट्रीय पुरस्‍कारों से सम्‍मानित किया जा चुका है। सिनेमा की कला को सामाजिक सरोकारों के साथ जोड़ने वाले बेजोड़ फिल्‍मकार श्री जान्‍हू बरुआ को गंगाशरण सिंह पुरस्‍कार से सम्‍मानित करते हुए केंद्रीय हिंदी संस्‍थान अपार हर्ष की अनुभूति कर रहा है।

संपर्क

बिल्डिंग सी-3, अपार्टमेंट 2-1 मिलेनियम टावर्स,

सैक्‍टर-9, संपदा, नवी मुंबई-400705 (महाराष्‍ट्र)

ई-मेल –      यह ईमेल पता spambots से संरक्षित किया जा रहा है. आप जावास्क्रिप्ट यह देखने के सक्षम होना चाहिए.


फोन –    

  • 09819162667
  • 022-27750347 (आवास)
  • 022-24954275 (कार्यालय)