मंगलवार, अक्टू 22

  •  
  •  
आप यहाँ हैं:घर छात्रावास छात्रावास नियम

छात्रावास नियम

  • संस्थान में प्रवेश पाने वाले प्रत्येक प्रशिक्षणार्थी के लिए छात्रावास की व्यवस्था है। पूरे सत्र के लिए एकमुश्त रु. 1500/- ( रुपए एक हजार पाँच सौ) छात्रावास सुविधा शुल्क छात्रावास में जमा करने होंगे। सभी प्रशिक्षणार्थियों को छात्रावास में अनिवार्यत: रहना होगा। यदि किन्हीं कारणों से कोई प्रशिक्षणार्थी छात्रावास से बाहर रहना चाहता/चाहती है, तो उसे निदेशक से अनुमति प्राप्त करनी होगी। बाहर रहने वाले प्रशिक्षणार्थियों को संस्थान के छात्रावास से कोई सुविधा उपलब्ध नहीं होगी तथा ऐसी स्थिति में प्रशिक्षणार्थी को कोई हानि या असुविधा होती है तो उसके लिए संस्थान की कोई जिम्मेदारी नहीं होगी।
  • संस्थान के छात्रवासों में किसी एक प्रशिक्षणार्थी को पूरा कमरा नहीं दिया जाएगा। छात्रों को अन्य प्रशिक्षणार्थियों के साथ कमरे में रहना होगा। एक कमरे में रहने वाले छात्र-छात्रएँ एक भाषा-भाषी न होकर भिन्न भाषा-भाषी होंगे।
  •           (क) प्रत्येक प्रशिक्षणार्थी को प्रवेश के समय छात्रावास तथा भोजनालय के लिए रु. 1000/- (एक हजार मात्र) कॉशन मनी के रुप में छात्रावास कार्यालय में जमा करने होगे। इस राशि पर कोई ब्याज देय नहीं होगा। यह राशि संस्थान छोड़ने पर छात्रावास के नुकसान की भरपाई करने के बाद वापस कर दी जाएगी। संस्थान छोड़ने से पूर्व संस्थान द्वारा प्रदत्त सभी देय सामग्री वापस करनी होगी।

    (ख) छात्रावास के भोजनालयों में शाकाहारी भोजन की व्यवस्था की जाती है, जो खुद विद्यार्थी प्रतिनिधियों द्वारा ही संचालित होगी। गैस के प्रबंधन में छात्रवासों के वार्डन छात्रों का मार्गदर्शन करेंगे। भोजनालयों का हिसाब वार्डनों के निर्देशानुसार छात्रावास सहायक की देख-रेख में छात्र प्रतिनिधि रखेंगे, जिसका निरीक्षण वार्डन किसी भी समय कर सकते हैं। प्रत्येक माह के अंत में छात्र प्रतिनिधि हिसाब की कॉपी वार्डन कार्यालय में जमा करेंगे। भोजनालयों के प्रबंध के लिए वार्डन की अध्यक्षता में प्रत्येक महीने के तृतीय सप्ताह में आयोजित एक बैठक में समिति का चयन किया जाएगा। सत्र के आरंभ में भोजनालय संबंधी नियम वार्डन घोषित करेंगे। भोजन व्यय की राशि का भुगतान समय पर नहीं करने पर उसकी कटौती छात्रवृत्ति से की जाएगी।

    (ग) भोजन भोजनालय कक्ष में ही करना होगा। भोजन कमरे में ले जाने पर पूर्णत: निषेध है और कोई भी प्रशिक्षणार्थी कमरे में भोजन, चाय आदि नहीं बनाएगा। भोजनालय के समय के अनुसार ही भोजन करना अनिवार्य है। भोजनालय कक्ष का कोई भी सामान छात्र/छात्र बाहर नहीं ले जाएँगे। इसकी अवहेलना करने पर अनुशासनात्मक कार्रवाई की जा सकती है।

    (घ) यदि कोई विद्यार्थी आगरा शहर से कुछ दिनों के लिए बाहर जाए तो भोजनालय प्रतिनिधि एवं वार्डन को लिखित रूप से सूचित करे। ऐसे में तीन दिन से कम अनुपस्थिति पर किसी प्रकार की कटौती नहीं होगी, तीन दिन से अधिक दिनों के लिए बाहर रहने पर भोजन व्यय में छूट दी जाएगी।

    (ङ) रसोई में कार्य करने वाले पूर्ण रूप से भोजनालय में ही भोजन करेंगे। इनसे भोजन खर्च वसूल नहीं किया जाएगा।

  • सामान्यत: संक्रामक रोगग्रस्त प्रशिक्षणार्थियों को प्रवेश नहीं दिया जाता। प्रवेश के पश्चात्र यदि किसी प्रशिक्षणार्थी को संक्रामक रोग होगा तो उसे संस्थान के छात्रावास से अलग रहना होगा।
  • सायं 7.00 बजे से प्रात: 6.00 बजे तक छात्रावास से बाहर जाना पूर्णत: निषिद्ध है। अध्ययन के अतिरिक्त छात्रावास से बाहर जाते समय और आते समय प्रशिक्षणार्थियों को छात्रावास गेट पर रखे रजिस्टर में सूचना दर्ज करनी होगी और हस्ताक्षर करने होंगे। विशेष परिस्थिति में सायं 7.00 से प्राय: 6.00 बजे तक प्रशिक्षणार्थी वार्डन की पूर्व अनुमति लेकर ही छात्रावास से बाहर जा सकते हैं।