मंगलवार, जुल 23

  •  
  •  
आप यहाँ हैं:घर क्षेत्रीय केंद्र हैदराबाद केंद्र भावी योजनाएँ

भावी योजनाएँ हैदराबाद केंद्र

  1. केंद्र में नियमित पाठ्यक्रम (निष्णात, पारंगत और प्रवीण) चलाना।
    • (अ) केंद्र पर कम्प्यूटरीकृत भाषा प्रयोगशाला स्थापित करना।
    • (आ) केंद्र के नियमित पाठ्यक्रमों के प्रतिभागियों के उपयोगार्थ एक मनोविज्ञन प्रयोगशाला स्थापित करना।
  2. केंद्र के भवन हेतु भूखंड आंवटित कराने और उसमें भवन निर्माण कराने का प्रयास चल रहा है।
  3. दक्षिण भारतीय भाषाओं का हिंदी कं साथ व्यतिरेकी अध्ययन कर उसके आधार पर शिक्षण सामग्री (अलग-अलग प्रातों के लिए) का निर्माण करना।
  4. केंद्र के पुस्तकालय कें समृद्घ करने की योजना है जिससे यह हिंदी भाषा, साहित्य, शिक्षा एवं तुलनात्मक अध्ययन के विद्यार्थियों एवं शोधकर्ताओं के लिए संदर्भ पुस्तकालय के रूप में विकसित हो।