रविवार, फरव 17

  •  
  •  

हिंदी शिक्षण निष्णात

हिंदी शिक्षण निष्णात (एम.एड.स्तरीय)

विश्वविद्यालयों और प्रशिक्षण महाविद्यालयों के हिंदी प्राध्यापकों को प्रशिक्षित करने के लिए संस्थान हिंदी शिक्षण निष्णात पाठ्यक्रम संचालित करता है। इस पूर्णसत्रीय पाठ्यक्रम में प्रशिक्षणार्थियों को विश्वविद्यालयों के एम.एड. पाठ्यक्रम के विषयों में प्रशिक्षण देने के साथ-साथ भाषा शिक्षण, भाषाविज्ञान, समाज भाषाविज्ञान, कोशविज्ञान, व्यतिरेकी भाषाविज्ञान, मूल्यांकन और परीक्षण, शैलीविज्ञान, अनुवाद सिद्धांत और व्यवहार, शिक्षण सामग्री निर्माण आदि का समुचित ज्ञान कराया जाता है। इसी कारण यह पाठ्यक्रम विश्वविद्यालयों के प्रशिक्षण पाठ्यक्रमों की अपेक्षा अधिक व्यावहारिक और प्रभावकारी सिद्ध हुआ है।

यह पाठ्यक्रम एम.एड. स्तर का है। पाठ्यक्रम की अवधि एक वर्ष है।

प्रवेश योग्यताएँ

प्रवेश की न्यूनतम एवं अनिवार्य योग्यताएँ निम्नलिखित है- हिंदी मुख्य विषय के साथ विश्वविद्यालय की स्नातक परीक्षा में (बी.ए. की परीक्षा में हिंदी मुख्य विषय के साथ) उत्तीर्णता और बी.एड., एल.टी. अथवा हिंदी शिक्षण पारंगत परीक्षा में हिदीं शिक्षण के साथ उत्तीर्णता।

पाठ्यक्रमों की रूपरेखा

प्रशिक्षणार्थियों को इस पाठ्यक्रम में पाँच प्रश्न-पत्र एवं लघु शोधप्रबंध एवं मौखिकी तथा इसके साथ एक वैकल्पिक प्रश्न-पत्र लेना अनिवार्य है।

प्रश्न-पत्र तथा अंक वितरण


अनिवार्य प्रश्न-पत्र

1 शिक्षा के दार्शनिक, समाजशास्त्रीय एवं भाषावैज्ञानिक आधार 80+10+10=100
2 शिक्षा मनोविज्ञान एवं मनोभाषिकी 80+10+10=100
3 शैक्षिक तकनीकी तथा अन्य भाषा शिक्षण 80+10+10=100
4 भाषाविज्ञान एवं भारतीय भाषा चिंतन की परंपरा 80+10+10=100
5 हिंदी भाषा की संरचना 80+10+10=100
6 अनुसंधान प्रविधि एवं भाषापरक अनुसंधान के आयाम 80+10+10=100
7 लधु शोध प्रबंध एवं मौखिकी 75+25=100

वैकल्पिक प्रश्न-पत्र

निम्नलिखित प्रश्न-पत्रों में से कोई एक प्रश्न-पत्र चुनना आवश्यक है -

1 भाषा परीक्षण एवं मूल्यांकन 50+30+10+10=100
2 व्यतिरेकी एवं त्रुटि विश्लेषण 50+30+10+10=100
3 साहित्य विश्लेषण एवं साहित्य शिक्षण 50+30+10+10=100
4 कम्प्यूटर साधित हिंदी भाषा संसाधन 50+30+10+10=100
5 हिंदी शिक्षण सामग्री निर्माण 50+30+10+10=100
6 प्रयोजनमूलक हिंदी 50+30+10+10=100